WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आचार संहिता में बंद हुई योजनाएं दोबारा हुई शुरू, देखें फ्री मोबाइल योजना की क्या है स्थिति

विधानसभा चुनाव के कारण राज्य में आचार संहिता लग गई थी। आचार संहिता लगने के कारण प्रदेश में चल रही 80 से अधिक योजनाएं बंद कर दी गई थी। राजस्थान में 25 नवंबर को विभान सभा चुनाव हो गए है। और 3 दिसंबर को चुनाव का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। अब राजस्थान में भाजपा की सरकार बन गई है। इसलिए लोग सोच रहे है की कॉंग्रेस सरकार के द्वारा शुरू की गई कई लाभकारी योजनाएं बंद कर दी जाएगी। आचार संहिता हटने के बाद सभी योजनाएं धीरे धीरे दोबारा शुरू की जा रही है।

राजस्थान में शुरू हुई योजनाएं

राज्य में आचार संहिता हटने के बाद सरकार के द्वारा योजनों को दोबारा शुरू किया जा रहा है। नई पेंशन, पालनहार, एसटी-एससी अत्याचार योजना, रीन्युअल, कन्यादान योजना, शुभ शक्ति योजना, स्कूटी योजना, मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना, बाल गोपाल दूध योजना, निशुल्क यूनिफ़ॉर्म, अंबेडकर डीबीटी, देवनारायण योजना, गाड़िया लुहार स्कीम, पीएम किसान निधि, बीज योजना के साथ ही और भी योजनाएं दोबारा शुरू कर दी गई है।

ये योजनाएं अभी भी बंद

चुनाव आयोग ने लोक लुभावनी योजनाओं को बंद कर दिया था। ताकि मतदाताओं पर इन योजनाओं का कोई असर नहीं पढ़ें। सरकार के द्वारा कुछ योजनाओं को शुरू कर दिया गया है। वही फ्री मोबाईल, चिरंजीवी योजना, फ्री अन्नपूर्णा फूड पैकेट जैसे योजनाओं के शुरू होने का इंतजार अभी भी लोगों को है। 

फ्री मोबाईल योजना: फ्री मोबाईल योजना में देश की 1 करोड़ 30 लाख महिलाएं पात्र है। जिन्हे फ्री स्मार्टफोन का इंतजार है। इस योजना के तहत पहले चरण में 40 लाख महिलों को फ्री स्मार्टफोन देने थे। लेकिन 25 लाख के महिलाओं को ही फ्री स्मार्टफोन मिला है। बाकी महिलाओं को अभी भी फ्री स्मार्टफोन का इंतजार है। इस योजना के दोबारा शुरू होने की स्थिति अभी साफ नहीं है। 

बालिका फ्री साइकिल योजना: राज्य के सरकारी विद्यालय में 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली 3 लाख 50 हजार बालिकाओं को साइकिल का वितरण करना था। इस योजना के लिए आवेदन मांग लिए गए थे। लेकिन आचार संहिता में अचानक प्रक्रिया रोक दी गई थी। जो अभी भी बंद है।

चिरंजीवी योजना: इस योजना में राज्य के 1 करोड़ 35 लाख परिवार शामिल है। चिरंजीवी योजना में 25 लाख तक इलाज प्राइवेट और सरकारी अस्पताल में किया जा सकता है। इस योजना के लिए पंजीकरण और नवीनीकरण आचार संहिता के कारण बंद है।

अन्नपूर्णा निशुल्क फूड पैकेट: इस योजना में प्रदेश के 4 करोड़ से अधिक परिवार जुड़ें है। फ्री फूड पैकेट योजना में 1 लीटर तेल, 100 ग्राम धनिया पाउडर, 100 ग्राम मिर्ची, 1 किलो चना दाल, 1 किलो नामक, 1 किलो चीनी, 50 ग्राम हल्दी पाउडर दिया जाता है। इस योजना में भी आचार संहिता के चलते वितरण रोक दिया गया है। फ्री फूड पैकेट में नवंबर तक का वितरण किया गया है।

फ्री यूनिफ़ॉर्म वितरण योजना: इस योजना में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 8वीं तक के बालक बालिकाओं को निशुल्क यूनिफ़ॉर्म का वितरण किया जा रहा था। आचार संहिता में वितरण रोक दिया गया था। लेकिन अब यूनिफ़ॉर्म पर मुख्यमंत्री का फोटो हटाकर दोबारा वितरण शुरू कर दिया गया है।

बेरोजगारी भत्ता: राजस्थान के बेरोजगारी भत्ता में राज्य के बेरोजगार युवाओं को 4500 से 5000 रुपये तक दिए जाते है।

इस लेख में राजस्थान की कई योजनाओं के बारें में जानकारी दी है। जो आचार संहिता के करना बाद हो गई थी। हालांकि कुछ योजनाएं दोबारा शुरू हो गई है। लेकिन अभी भी कई योजनाओं के शुरू होने का इंतजार लोगों को है, जिनमें फ्री स्मार्टफोन योजना, अन्नपूर्णा निशुल्क फूड पैकेट योजना, चिरंजीवी योजना शामिल है। यदि आप भी सरकार योजनाओं की जानकारी रोजाना अपने व्हाट्सअप पर प्राप्त करना चाहते है तो हमारा व्हाट्सअप ग्रुप जरूर जॉइन कर लें। जिसका लिंक नीचे दिया गया है।

जॉइन व्हाट्सअप चैनल – क्लिक करें

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment